CA कैसे बनें ? Chartered Accountancy की पूरी जानकारी। Chartered Accountant

How to become a Chartered Accountant :  Chartered Accountancy सभी व्यवसायों का केंद्र होता है ; चाहे वह कोई बड़ा Business हो या छोटा।  एक Chartered Accountant के कार्यों में Auditing, Taxation, Accounting तथा Financial Planning शामिल होते हैं। यह एक चुनौतीपूर्ण कार्य होता है जिसमें सम्मान भी बहुत है। इसके अंतर्गत व्यावसायिक प्रतिष्ठान के आय-व्यय की शीट तैयार करना, लाभ-हानि का सही से लेखा-जोखा तैयार करना, आय कर का अनुमान लगाना, वाउचर्स देखना और उन्हें प्रमाणित करना आदि अन्य सम्बंधित कार्य होते हैं।

एक अच्छा Chartered Accountant बनने के लिए सबसे आवश्यक है कि आप कठोर परिश्रमी होने के साथ -साथ धैर्यवान और महत्त्वाकांक्षी भी हों। आप दृढ इच्छाशक्ति के धनी हों और बातों को गोपनीय रखने में समर्थ हों। साथ ही आपका विनम्र, हंसमुख और व्यवहारकुशल व्यक्तित्व आपकी छवि को मजबूत करेगा।

चार्टर्ड एकाउंटेंसी करने के बाद एक सुनहरे करियर का बहुत बड़ा मार्ग खुल जाता है। Chartered Accountancy का Course “Institute of Chartered Accountants of India” द्वारा आयोजित किया जाता है, जिसका मुख्यालय नई दिल्ली में है तथा 5 क्षेत्रीय कार्यालय (कोलकाता, कानपुर, मुम्बई, चेन्नई और नई दिल्ली) और इन क्षेत्रीय केंद्रों के अंतर्गत  81 शाखाएँ हैं।

CA कैसे बनें | How to become a Chartered Accountant in India

बदलते समय के साथ-साथ CA बनने की Qualifications भी बदलती रही हैं। दशकों पहले कैंडिडेट केवल Graduation करते ही पांच साल की Articleship Training करके CA बन सकता था। इसके बाद PE-1 और PE-2 examinations का system आया। फिर 2006 में ICAI ने system में फेरबदल किया और CPT, IPCC और FC को launch किया।

Common Proficiency Test (CPT) : CPT एक शुरुआती लेवल का टेस्ट है, जिसमें चार विषय समाहित हैं – Accounting, Mercantile laws, General Economics और Quantitative Aptitude.
Integrated Professional Competence Course (IPCC) : यह CA पाठ्यक्रम का पहला चरण है जिसमें अकाउंटेंसी पेशे में प्रमुख और o संबद्ध विषयों के केवल working knowledge शामिल हैं। IPCC के विषयों को दो Groups में वर्गीकृत किया जाता है, जिसमें Students, या तो Group-wise या फिर दोनों Groups में एक साथ पढ़ और परीक्षाओं उपस्थित हो सकते हैं। इस चरण में Students अपने business communication, business strategies, taxes, information technology और Audit के ज्ञान को update करते हैं।
CA Final : CA Final में प्रमुख विषयों जैसे Financial reporting, Strategic financial management, Advanced Management Accounting, Advanced auditing and professional ethics और information systems control and Audit के Advanced अनुप्रयोग ज्ञान शामिल हैं।
Articleship : IPCC का Group 1 Pass करने के बाद Students किसी experienced CAs के अधीन 3 years की Articleship करने के लिए regester करते हैं। जिसके अधीन Articleship की जाती है उसे teacher या principal कहा जाता है। Articleship की training के दौरान ये teacher बदले भी जा सकते हैं। इस training से Articles इस कार्य की Technical details सीखते हैं। इन्हें training के दौरान वेतन भी मिलता है।

कब शुरू करें –

वर्तमान में जिस तरह Competition बढ़ता जा रहा है, यह सलाह दी जाती है कि student को इसकी तैयारी 10th class के बाद से ही शुरू कर देनी चाहिये। इसके लिये 10th के बाद Mathematics लेना लाभदायक रहेगा। 10+2 बोर्ड की Studies के साथ ही Entry level test की तैयारी शुरू कर देनी चाहिए। जिस student के पास commerce subject है उसे बेशक इस करियर के लिए तैयारी में advantage रहेगी। इसलिए अगर आप CA को ही करियर के रूप में चाहते हैं तो 10th के बाद से ही इसके लिए तैयारी शुरू कर देना beneficial रहेगा।

Science और Arts के Students ?

इसमें कोई दो राय नहीं कि CA के लिए Commerce का student होना काफी beneficial है, लेकिन इसका यह मतलब नहीं कि Arts या Science के students इसमें अपना करियर नहीं बना सकते; वे भी बेशक इसमें अपना Career बना सकते हैं। बस इसके लिए उन्हें शुरुआत में इसके Basics सीखने के लिए थोड़ी ज्यादा मेहनत करनी होगी। CA बहुत ही Practical Course है इसलिए अगर आप मेहनत कर सकते हैं तो आपका भी स्वागत है; चाहे आप Arts के Student हों या Science के।

CA Course Fees ?

अन्य Professional Courses की तुलना में CA का course काफी सस्ता होता है, जिसकी Fees में Study Material भी शामिल होते हैं। CPT में registration की फीस लगभग 6000-7000 है तथा IPCC में registration की Fees 9000-11000 है।

IPCC में Online रजिस्ट्रेशन के लिए इस Link पर Click कीजिये।  Registration link for IPCC : https://sdb.icai.org/stud/defaul.aspx

Training के बाद कैसे करें काम की शुरुआत ?

Articleship की Training complete होने के बाद CA की Practice शुरू करने से पहले ICAI से membership लेना आवश्यक है। जो भी member भारत में या विदेश में प्रैक्टिस करने के इच्छुक हैं उनके पास ICAI द्वारा दिया गया Practice करने का certificate होना चाहिए, जिसकी सालाना Fee लगभग 400 रु. है। साथ ही यह भी जान लेना आवश्यक है कि एक बार यह membership मिल जाने के बाद इसका सदस्य council की अनुमति के बिना अन्य कोई दूसरा Business या व्यवसाय नहीं कर सकता ; उसे केवल CA के अंतर्गत आने वाले कार्य ही करने की अनुमति होती है।

कहाँ मिल सकता है काम ?

  • Auditing firms.
  • Banks
  •  Public Limited Companies.
  •  Finance Companies, Portfolio Management Companies, Mutual Funds, Investment Houses, Stock Broking Firms.
  •  Legal Firms, Legal Houses, Patent Firms, Attorneys, Trademark and Copyright Registers.

Package

CA Inter की Salary : जिन Candidates के पास CA inter-qualification होता उन्हें शुरुआत में 8,000 से 15,000 तक प्रतिमाह Salary मिल सकती है ; यह Firm पर निर्भर करता है। अगर साथ में MCom या MBA की qualifications भी हों तो यह payment भी अधिक हो सकता है। अगर आप छोटे कस्बों में काम करते हैं तो वहां salary 5,000 से 8,000 तक हो सकती है।

CA Final (FCA) की Salary : Firm और Economy के आधार पर शुरूआती Salary 12,000 से 30,000 रुपये प्रतिमाह हो सकती है।

Experienced CA की Salary : किसी अच्छी Firm में कम से कम पाँच सालों के अनुभव के बाद Salary 30,000 से 75,000 रुपये प्रतिमाह हो सकती है।

CA का Scope ?

आजकल सरकार हर प्रकार के संस्थानों के Auditing आदि हिसाब-किताब का ही विश्वास करती है। अतः CA के व्यवसाय का भविष्य बहुत उज्जवल है। CA में कितना Scope है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पिछले पांच वर्षों की Indian Economy की growth के आधार पर भारत में हर साल 8,000 से 10,000 नए CAs की जरुरत है। CAs की demand पिछले 3-4 वर्षों से 10% से 15% बढ़ी है।

+ Points

  • इस कार्य में बहुत कमाई है।
  • संस्थाओं और समाज में एक CA का बहुत सम्मान होता है। इसलिए कहा जा सकता है कि CA बनकर आप अच्छा पैसा और इज्जत दोनों कमा सकते हैं।

– Points

  • इस काम में लगातार नए नियमों और जानकारियों से Update रहना बहुत जरुरी है, अन्यथा काम में स्थिरता आ जाएगी।
  • यह बहुत ही जिम्मेदारियों भरा तनावपूर्ण काम है जिसमें किसी भी गलती की कोई गुंजाईश नहीं।

* CA की परीक्षाओं आदि की जानकारियों के अपडेट के लिए ICAI की इस वेबसाइट को देखें :  https://sdb.icai.org/

5 thoughts on “CA कैसे बनें ? Chartered Accountancy की पूरी जानकारी। Chartered Accountant

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *