लाइब्रेरियन कैसे बनें | Career in Library and Information Science in Hindi

LIS / Library and Information Science : दोस्तों ! जैसा कि आप जानते हैं कि आजकल का लगभग हर Business ”सूचना तंत्र” यानी ”Information system” के बल पर ही चल रहा है। वर्तमान युग सूचना प्रधान युग है। किसी भी कार्य को करने से पहले उस सम्बन्ध में सूचनाएँ जुटाना पड़ता है। जिसके पास जितनी अधिक सूचनाएँ होती हैं, वह उतना ही सफल रहता रहता है।

बढ़ते संचार साधनों ने इन सूचनाओं को जुटाना बहुत ही आसान कर दिया है। अब तो आप इंटरनेट से भी किसी भी तरह की सूचनाएं एकत्रित कर सकते हैं और इन्हें स्टोर भी कर सकते हैं। आज का हर व्यक्ति, हर विभाग विभिन्न स्तरों पर सूचनाएँ एकत्रित करता है। विभागों में इस कार्य के लिए Library होती है जिसे चलाने वाले को लाइब्रेरियन कहा जाता है। एक लाइब्रेरियन का मुख्य कार्य तरह-तरह की आवश्यक सूचनाओं को जुटाना और उनका संकलन करना होता है। इसके लिए वह Books, ब्रोशर, चार्ट, Newspapers, Websites आदि का सहारा लेता है। चाहे कोई Business हो या Film Industry या राजनीति अथवा कोई धार्मिक व सामाजिक ही कार्य हो सभी में विभिन्न सूचनाओं की आवश्यकता होती ही है। 

लाइब्ररी और सूचना प्रौद्योगिकी में कैरियर की खोज एक प्रभावशाली विचार है, हम उत्कृष्ट युग में रह रहे हैं जहां इलेक्ट्रॉनिक माध्यम पूर्व-प्रधान है और आपको एक क्लिक में पूरी दुनिया से जोड़ता है। 

इसी सूचना विज्ञान यानी Information Science के बढ़ते महत्त्व को देखते हुए वर्तमान में ये सबसे अच्छा करियर माना  जाता है। इसके लिए विभिन्न Institutes इसका प्रशिक्षण भी देने लगे हैं। ये प्रशिक्षण लेकर आप एक अच्छे करियर की शुरुआत कर सकते हैं। 

Course / Training 

लाइब्रेरियन बनने के लिए अनेक तरह के Courses उपलब्ध हैं। इनमें Degree, Diploma व Certificate Course शामिल हैं। विश्वविद्यालयों से B.Lib की डिग्री दी जाती है। और यह डिग्री देश के लगभग सभी विश्वविद्यालयों से ली जा सकती है। इसके लिए न्यूनतम योग्यता 10+2 होती है। इसके अलावा Bachelor of Library and  Information Science की डिग्री भी महत्वपूर्ण होती है। 

B.Lib Science के बाद Master of Library and  Information Science की डिग्री ली जा सकती है। यह डिग्री मिलने से Jobs मिलने में काफी आसानी रहती है। 

Placements 

B.Lib Science या M.Lib Science Course करने के बाद विभिन्न सरकारी संस्थानों, Schools, व निजी संस्थानों में नौकरी के अवसर बढ़ जाते हैं। सरकारी संस्थानों में नौकरी के लिए योग्यता परीक्षा भी देनी पड़ती है, जबकि अन्य संस्थानों में इसकी बाध्यता नहीं होती। इस क्षेत्र में स्वतन्त्र रूप से भी कार्य किया जा सकता है अथवा पार्ट टाइम जॉब के रूप में भी अपनाया जा सकता है। 

Objectives of Library and Information Science (LIS) Program

  • छात्रों को LIS के बुनियादी सिद्धांतों और बुनियादी बातों के बारे में ज्ञान प्रदान करना। 
  • विभिन्न कार्यप्रणाली और लाइब्रेरियनशिप और सूचना हैंडलिंग की तकनीकों के बारे में सीखने वालों को प्रशिक्षित करना। 
  • छात्रों को समाज के बदलते परिदृश्य में पुस्तकालय / सूचना केंद्र के उद्देश्य और कार्य को समझाने के लिए। 
  • सूचना प्रणाली और सेवाओं के प्रबंधन में विभिन्न प्रबंधन तकनीकों के अनुप्रयोग के शिक्षार्थियों को परिचित करना।
  • पुस्तकालय और सूचना केंद्र के नियोजन, डिजाइन और विकास और स्थानीय, राष्ट्रीय, क्षेत्रीय और वैश्विक स्तर पर उनकी सेवाओं की रूपरेखा और विकास के साथ छात्रों को परिचित करना। 
  • छात्रों को सूचना प्रौद्योगिकी / ICT to LIS के आवेदन से अवगत कराना।

Library and  Information Science Jobs >>

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *